प्रेम Poetry

हवाओं में दिलों का कारवाँ है

अल्का मिश्रा

सर पर किसी ग़रीब के नाचार गिर पड़े

ग़ुलाम हुसैन साजिद

जो मुझ में छुपा मेरा गला घोंट रहा है

फ़हमीदा रियाज़

पहले तो फ़क़त उस का तलबगार हुआ मैं

फ़ीरोज़ाबी नातिक़ ख़ुसरो

नहीं कि ज़िंदा है बस एक मेरी ज़ात में इश्क़

एज़ाज़ काज़मी

ख़ुद-सताई से न हम बाज़ अना से आए

आज़ाद हुसैन आज़ाद

तलाश

मुबश्शिर अली ज़ैदी

तुझ को अपना के भी अपना नहीं होने देना

आमिर अमीर

फ़रार कोई नहीं

हारिस ख़लीक़

ज़ब्त की हद से भी जिस वक़्त गुज़र जाता है

शौक़ मुरादाबादी

मज़ाक़ सहना नहीं है हँसी नहीं करनी

स्वप्निल तिवारी

पहले-पहल लड़ेंगे तमस्ख़ुर उड़ाएँगे

अली ज़रयून

हम उस से इश्क़ का इज़हार कर के देखते हैं

अख़्तर हाशमी

लज़्ज़त-ए-हिज्र ने तड़पाया बहुत रुस्वा किया

नसीम शेख़

था जो मेरे ज़ौक़ का सामान आधा रह गया

अहमद अली बर्क़ी आज़मी

एक तो इश्क़ की तक़्सीर किए जाता हूँ

नईम गिलानी

इक तेरी बे-रुख़ी से ज़माना ख़फ़ा हुआ

अर्श सिद्दीक़ी

ख़्वाबों ख़यालों की अप्सरा

दौर आफ़रीदी

मरहला

दौर आफ़रीदी

चारागर

दर्शन सिंह

मैं सुन नहीं सकता

एहतिशाम अख्तर

इस दिल से मिरे इश्क़ के अरमाँ को निकालो

बदन को छू लें तिरे और सुर्ख़-रू हो लें

छुपे तो कैसे छुपे चमन में मिरा तिरा रब्त-ए-वालिहाना

सर्द आहों ने मिरे ज़ख़्मों को आबाद किया

किस के नग़्मे गूँजते हैं ज़िंदगी के साज़ में

वो कहते हैं कि हम को उस के मरने पर तअ'ज्जुब है

ज़ुल्फ़िक़ार अली बुख़ारी

ये शोर-ओ-शर तो पहले दिन से आदम-ज़ाद में है

ज़ुल्फ़िक़ार अहमद ताबिश

सहराओं के दोस्त थे हम ख़ुद-आराई से ख़त्म हुए

ज़ुल्फ़िक़ार आदिल

काम हैं और ज़रूरी कई करने के लिए

ज़ुहूर-उल-इस्लाम जावेद

Collection of Hindi Poetry. Get Best Hindi Shayari, Poems and ghazal. Read shayari Hindi, poetry by famous Hindi and Urdu poets. Share poetry hindi on Facebook, Whatsapp, Twitter and Instagram.