स्थिति Poetry

बैठे बैठे कैसा दिल घबरा जाता है

ज़ेहरा निगाह

चुप के सहरा में फ़क़त एक सदा कौन हूँ मैं

ज़ाकिर ख़ान ज़ाकिर

उसी यक़ीन उसी दस्त-ओ-पा की हाजत है

यूसुफ़ तक़ी

रात चौपाल और अलाव मियाँ

यूसुफ़ तक़ी

कुछ लोग जो नख़वत से मुझे घूर रहे हैं

यावर अब्बास

दिल कूँ तुझ बाज बे-क़रारी है

वली मोहम्मद वली

जी का जंजाल है इश्क़ मियाँ क़िस्सा ये तमाम करो 'वाली'

वाली आसी

अभी तो मंसब-ए-हस्ती से मैं हटा ही नहीं

तारिक़ नईम

मिरी निगाह किसी ज़ाविए पे ठहरे भी

तारिक़ नईम

ख़ता मैं ने कोई भारी नहीं की

ताबिश मेहदी

मंसब-ए-इश्क़ से कुछ ओहदा-बरा मैं ही हुआ

सय्यद काशिफ़ रज़ा

प्यार का दर्द का मज़हब नहीं होता कोई

सुलैमान अरीब

मज्लिस-ए-ऐश गर्म हो या-रब

सिराज औरंगाबादी

जाने क्या बात है मानूस बहुत लगता है

शोहरत बुख़ारी

मुन्तज़िम

शहनाज़ नबी

ख़ुशियाँ मत दे मुझ को दर्द-ओ-कैफ़ की दौलत दे साईं

शाहिद कमाल

वो बे-नियाज़ शब-ओ-रोज़-ओ-माह-ओ-साल गया

शाहिद अहमद शोएब

वो जो आए थे बहुत मंसब-ओ-जागीर के साथ

सलीम कौसर

दिल ही मेरा फ़क़त है मतलब का

सख़ी लख़नवी

अँधेरे दिन की सफ़ारत को आए हैं अब के

सज्जाद बाक़र रिज़वी

विर्सा

साहिर लुधियानवी

मैं जो कुछ सोचता हूँ अब तुम्हें भी सोचना होगा

हिमायत अली शाएर

अब तुझ से फिरा ये दिल-ए-नाकाम हमारा

हसरत अज़ीमाबादी

हादिसा इश्क़ में दरपेश हुआ चाहता है

हाशिम रज़ा जलालपुरी

पहले नज़्र लब-ओ-रुख़्सार करेगी दुनिया

हसन निज़ामी

इस तरह अहद-ए-तमन्ना को गुज़ारे जाइए

हनीफ़ अख़गर

शहर-ए-याराँ

फ़ैज़ अहमद फ़ैज़

इश्क़ ने मंसब लिखे जिस दिन मिरी तक़दीर में

बक़ा उल्लाह 'बक़ा'

काश समझदार न बनूँ

अतीया दाऊद

माना किसी ज़ालिम की हिमायत नहीं करते

आसिम वास्ती

Collection of Hindi Poetry. Get Best Hindi Shayari, Poems and ghazal. Read shayari Hindi, poetry by famous Hindi and Urdu poets. Share poetry hindi on Facebook, Whatsapp, Twitter and Instagram.