तौकीर Poetry

तिरी निगह से इसे भी गुमाँ हुआ कि मैं हूँ

ज़िया जालंधरी

नक़्श-ए-तस्वीर न वो संग का पैकर कोई

ज़ेब ग़ौरी

मेरी बर्बादियों की ये तस्वीर

ज़ख़मी हिसारी

नहीं ये रस्म-ए-मोहब्बत कि इश्तिबाह करो

ज़ाहिद चौधरी

वाँ तबीअत दम-ए-तक़रीर बिगड़ जाती है

ज़हीर देहलवी

कितने पेच-ओ-ताब में ज़ंजीर होना है मुझे

यूसुफ़ हसन

तस्वीर-ए-रहमत

तिलोकचंद महरूम

छब्बीस जनवरी

तिलोकचंद महरूम

उस कू मैं हुए हम वो लब-ए-बाम न आया

मीर तस्कीन देहलवी

जितने अल्फ़ाज़ हैं सब कहे जा चुके

तारिक़ क़मर

यूँ भी तिरा एहसान है आने के लिए आ

तालिब बाग़पती

कि ख़ुद-नुमाई न तश्हीर चाहते हैं हम

सुहैल अख़्तर

हूँ किस मक़ाम पे दिल में तिरे ख़बर न लगे

सिद्दीक़ शाहिद

हमारे दिल के आईने में है तस्वीर नानक की

श्याम सुंदर लाल बर्क़

दस्त-ए-क़ातिल में ये शमशीर कहाँ से आई

शकीला बानो

वज्ह-ए-क़द्र-ओ-क़ीमत-ए-दिल हुस्न की तनवीर है

शकील बदायुनी

आया है हर चढ़ाई के बा'द इक उतार भी

शकेब जलाली

फ़स्ल-ए-गुल ख़ाक हुई जब तो सदा दी तू ने

शहज़ाद अहमद

ख़ाक-ए-दिल कहकशाँ से मिलती है

शाहीन ग़ाज़ीपुरी

तुझ को मेरे क़ुर्ब में पा कर जलते हैं दीवाने लोग

सत्यपाल जाँबाज़

घर की दीवारों को हम ने और ऊँचा कर लिया

सलाहुद्दीन नदीम

जब कभी उन की तवज्जोह में कमी पाई गई

साहिर लुधियानवी

अहबाब भी हैं ख़ूब कि तश्हीर कर गए

सहबा वहीद

हज़ार हम-सफ़रों में सफ़र अकेला है

साग़र मेहदी

अपनी खोई हुई तौक़ीर नुमायाँ कर दें

सईदा जहाँ मख़्फ़ी

नज़र कर तेज़ है तक़दीर मिट्टी की कि पत्थर की

रशीद लखनवी

जुनूँ की फ़स्ल आई बढ़ गई तौक़ीर पत्थर की

रशीद लखनवी

बहुत रौशन हम अपना नय्यर-ए-तक़दीर देखेंगे

रहमत इलाही बर्क़ आज़मी

'इश्क़ी'-साहिब लिखना है तो कोई नई तहरीर लिखो

इलियास इश्क़ी

वो कहते हैं कि आँखों में मिरी तस्वीर किस की है

इफ़्तिख़ार राग़िब

Collection of Hindi Poetry. Get Best Hindi Shayari, Poems and ghazal. Read shayari Hindi, poetry by famous Hindi and Urdu poets. Share poetry hindi on Facebook, Whatsapp, Twitter and Instagram.