जिंदगानी Poetry

हिज्र

अज़ीमुद्दीन अहमद

यौम-ए-बर्क़

बिर्ज लाल रअना

मुर्ग़-ए-मरहूम

असद जाफ़री

वो दिन गुज़रे कि जब ये ज़िंदगानी इक कहानी थी

सिवा है हद से अब एहसास की गिरानी भी

ज़ाहिदा ज़ैदी

वो किस प्यार से कोसने दे रहे हैं

ज़हीर देहलवी

हाथ से हैहात क्या जाता रहा

ज़हीर देहलवी

मैं आज कल के तसव्वुर से शाद-काम तो हूँ

याक़ूब आमिर

अगरचे हाल ओ हवादिस की हुक्मरानी है

याक़ूब आमिर

अगर ख़ू-ए-तहम्मुल हो तो कोई ग़म नहीं होता

वासिफ़ देहलवी

कार्ल मार्क्स

वामिक़ जौनपुरी

शिताब खो गई पीरी जवानी दो दिन की

वली उज़लत

हुए हम जब से पैदा अपने दीवाने हुए होते

वली उज़लत

याद में अपने यार-ए-जानी की

वाजिद अली शाह अख़्तर

याद में अपने यार-ए-जानी की

वाजिद अली शाह अख़्तर

परोमीथियस

वहीद अख़्तर

वही हादसों के क़िस्से वही मौत की कहानी

वफ़ा बराही

ज़मीं पर सर-निगूँ बैठा हुआ हूँ

तस्लीम इलाही ज़ुल्फ़ी

हवा रुकी है तो रक़्स-ए-शरर भी ख़त्म हुआ

तारिक़ क़मर

मुझ को भी हक़ है ज़िंदगानी का

ताहिर अज़ीम

मुझ को भी हक़ है ज़िंदगानी का

ताहिर अज़ीम

सू-ए-दयार ख़ंदा-ज़न वो यार-ए-जानी फिर गया

तअशशुक़ लखनवी

गंगा जी

सुरूर जहानाबादी

सुनी है रौशनी के क़त्ल की जब से ख़बर मैं ने

सुरूर अम्बालवी

तुम आसमाँ की तरफ़ न देखो

सूफ़ी तबस्सुम

ज़बाँ करती है दिल की तर्जुमानी देखते जाओ

सूफ़ी तबस्सुम

तिरी महफ़िल में सोज़-ए-जावेदानी ले के आया हूँ

सूफ़ी तबस्सुम

अगर हम कहें और वो मुस्कुरा दें

सुदर्शन फ़ाकिर

बढ़ा जो दर्द-ए-जिगर ग़म से दोस्ती कर ली

सुभाष पाठक ज़िया

आप की बस ये निशानी रह गई

सिया सचदेव

Collection of Hindi Poetry. Get Best Hindi Shayari, Poems and ghazal. Read shayari Hindi, poetry by famous Hindi and Urdu poets. Share poetry hindi on Facebook, Whatsapp, Twitter and Instagram.